सोमवार को संसद में राम मंदिर और सुप्रीम कोर्ट के पूर्व चीफ जस्टिस के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी करने पर सरकार तृणमूल कांग्रेस की सांसद महुआ मोइत्रा के खिलाफ कार्रवाई कर सकती है। यह जानकारी मंगलवार को संसदीय कार्य मंत्री प्रल्हाद जोशी ने दी।

जोशी ने कहा कि संसद में राम मंदिर पर कोर्ट के फैसले, तत्कालीन चीफ जस्टिस का नाम लेने समेत अन्य मुद्दों को उछालना गंभीर मामला है। इस मामले में हम उचित कदम उठाने का विचार कर रहे हैं। सरकार विशेषाधिकार नोटिस पर भी विचार कर रही है। हालांकि मोइत्रा की टिप्पणियों को संसदीय कार्यवाही से बाहर कर दिया गया है। केंद्र सरकार के एक अन्य वरिष्ठ मंत्री ने तृणमूल सांसद की टिप्पणियों को नियमों के खिलाफ बताया है।

उल्लेखनीय है महुआ मोइत्रा ने सोमवार को राष्ट्रपति के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पर चर्चा के दौरान बिना नाम लिए पूर्व चीफ जस्टिस के खिलाफ आपत्तिजनक टिप्पणी की थी।

By admin