कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के राजनीतिक सचिव एनआर संतोष ने कथित तौर पर नींद की गोली खाकर आत्महत्या करने की कोशिश की है।  परिवार के सदस्यों ने बेंगलुरु में रमैया मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराया है। पुलिस सूत्रों ने इसकी जानकारी दी है। हालांकि, वह अब खतरे से बाहर हैं। राज्य के मुख्यमंत्री ने इसकी जानकारी दी। वह अपने सचिव से मिलने अस्पताल पहुंचे।

अस्पताल में एनआर संतोष का हालचाल लेने के बाद येदियुरप्पा ने इसे लेकर एक बयान भी दिया है। उन्होंने कहा है कि वह एनआर संतोष के परिजनों से बातचीत करेंगे। उन्हें इसके पीछे का कराण नहीं पता है। उनकी हालत अब स्थिर है। चिंता की कोई बात नहीं है। येदियुरप्पा ने कहा कि वे जब संतोष से मिले तो वो काफी खुश थे। शुक्रवार सुबह उन्होंने उनके साथ 45 मिनट तक वॉक किया। कल भी वह वह काफी खुश थे। उन्हें नहीं पता ऐसा क्यों हुआ। पुलिस सूत्रों ने कहा कि संतोष द्वारा आत्महत्या करने की कोशिश का कारण अभी तक पता नहीं चल पाया है।

संतोष को इस साल मई में मुख्यमंत्री येदियुरप्पा का राजनीतिक सचिव नियुक्त किया गया था। जब भाजपा के दिग्गज नेता विपक्ष और पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष थे, तब उन्होंने येदियुरप्पा के निजी सहायक के रूप में काम किया था। हाल ही में ऐसी खबरें थीं कि संतोष, येदियुरप्पा के कुछ करीबी लोगों के साथ कथित मतभेदों का हवाला देते हुए, सीएम के राजनीतिक सचिव पद से इस्तीफा दे सकते हैं।

कहा जाता है कि उन्होंने पिछले साल राज्य में राजनीतिक उथल-पुथल के दौरान अहम भूमिका निभाई थी। जब कांग्रेस-जेडीएस के कई विधायकों ने बागी तेवर अपना लिए थे और मुंबई में डेरा डाल दिया था। इसके बाद एचडी कुमारस्वामी के नेतृत्व वाली कांग्रेस-जेडीएस गठबंधन सरकार गिर गई। इसके बाद भाजपा सत्ता में आई। लो प्रोफाइल वाले संतोष के बारे में कहा जाता है कि उनकी नजरें अगले विधानसभा चुनावों पर थी।

By admin