उग्रवादी कमांडर पुनई उरांव मुठभेड़ में मारा गया, 2 लाख का था इनाम

मारा गया उग्रवादी एरिया कमांडर पुनई उरांव है। उसके खिलाफ दो दर्जन मामले दर्ज हैं। वह एके-47 हथियार भी रखता था। रांची-खूंटी के बड़े व्यवसायियों और डेवलपमेंट प्रोजेक्ट पर लगातार लेवी वसूली करता था। वह रांची और खूंटी के लिए आतंक का पर्याय बना था।

झारखंड में उग्रवादियों पर पुलिस भारी पड़ रही है। लगातार दूसरे दिन पुलिस को बड़ी सफलता हाथ लगी है। जीदन गुड़िया के बाद आतंक का पर्याय रहे दो लाख के इनामी पीएलएफआई के एरिया कमांडर पुनई उरांव को रांची पुलिस ने एनकाउंटर में ढेर कर दिया। मंगलवार की शाम रांची-खूंटी बॉर्डर के नगड़ी थाना क्षेत्र के चेटे सिंहपुर में हुई पुलिस मुठभेड़ में पुनई उरांव को पुलिस ने मार गिराया गया। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा के नेतृत्व में करीब आधे घंटे चली इस ऑपरेशन में पुलिस को कामयाबी मिली है। मौके से एक कार्बाइन और एक पिस्टल बरामद की गई है। एसएसपी के अनुसार पुलिस को सूचना मिली थह रांची-खूंटी बॉर्डर के लोधमा से सटे जगली इलाके में पुनई का दस्ता कैंप किए हुए है। इस सूचना पर एसएसपी ने नगड़ी थाने की टीम, क्यूआरटी व स्पेशल टीम को लगाया।

एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा के नेतृत्व में गठित रांची पुलिस की टीम लोधमा के लिए मंगलवार की शाम निकली। टीम चेटे गांव के सिंहपुर के पास जैसे ही पहुंचे। उग्रवादी पुलिस की टीम को देखते ही फायरिंग शुरू कर दी। हालांकि पुलिस की टीम ने उग्रवादियों को सरेंडर करने के लिए कहा। मगर उग्रवादी ताबड़तोड़ फायरिंग करने लगे। यह देखकर पुलिस की टीम ने भी जवाबी फायरिंग शुरू कर दी। इस दौरान दोनों ओर से दर्जनों राउंड फायरिंग हुई। करीब आधे घंटे चली। इस मुठभेड़ में एरिया कमांडर पुनई उरांव ढेर हो गया। पुनई के मारे जाने के बाद दस्ते में शामिल अन्य उग्रवादी अंधेरे का फायदा उठाकर जंगल की ओर भाग निकले। हालांकि पुलिस की टीम ने पीछा किया। उनके पीछे गई पुलिस की टीम ने पूरी रात सर्च अभियान चलाया। सर्च अभियान के दौरान हथियार बरामद किए गए हैं। इधर, पुलिस ने पुनई के शव को अपने कब्जे में लिया है। उसे सिंहपुर में ही रखा गया है। मंगलवार को पुनई के शव को मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में पोस्टमार्टम कराया जाएगा।

पूरी रात चला सर्च ऑपरेशन : रांची पुलिस ने मुठभेड़ के बाद लोधमा-कर्रा के जंगल में पूरी रात सर्च ऑपरेशन चलाया गया। एसएसपी सुरेंद्र कुमार झा और ग्रामीण एसपी नौशाद आलम देर रात तक जमे रहे। पुलिस की टीम उग्रवादियों की तलाश में खूंटी तक भी गई। हालांकि पुनई के दस्ते में शामिल एक भी उग्रवादी नहीं पकड़े गए। एसएसपी ने कहा है कि सर्च ऑपरेशन चलाकर पुलिस आश्वस्त होगी। चूंकि पुलिस पर उग्रवादियों ने अचानक फायरिंग की थी।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button



जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275
.