राजस्थान के दौसा जिले में उपखंड अधिकारी पद पर तैनात रहते हुए 10 लाख की रिश्वत के मामले में गिरफ्तार की गई पिंकी मीणा का मंगलवार को एक न्यायिक अधिकारी नरेंद्र के साथ विवाह समारोह संपन्न हुआ। नरेंद्र दौसा जिले के बसवा निवासी हैं। उनका कुछ माह पूर्व ही राज्य न्यायिक सेवा में चयन हुआ था, फिलहाल उनकी ट्रेनिंग चल रही है। जयपुर के चौमू रोड स्थित एक मैरिज गार्डन में देर रात विवाह समारोह संपन्न हुआ। पिंकी मीणा को हाईवे प्रोजेक्ट की एक कंपनी से रिश्वत के मामले में गिरफ्तार करने के बाद जेल भेजा था। जहां उन्होंने विवाह के लिए जमानत मांगी थी। कोर्ट ने उन्हें 10 फरवरी को 10 दिन की जमानत दी थी।

पिंकी मीणा फिर जेल जाएगी

अब पिंकी मीणा को 21 फरवरी को सरेंडर करना होगा, फिर वे जेल जाएगी। विवाह में शामिल हुए लोगों ने बताया कि मैरिज गार्डन भव्य तरीके से सजाया गया था। हालांकि समारोह में कोई बड़ा अधिकारी नहीं पहुंचा। इसका कारण पिंकी मीणा के रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार होना है। उल्लेखनीय है कि पिंकी मीणा के साथ ही दौसा जिले के एक और उपखंड अधिकारी पुष्कर मित्तल को 13 फरवरी को गिरफ्तार किया गया था। जांच के बाद इस मामले में दौसा के पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल और उनके लिए दलाली करने वाले एक व्यक्ति को भी पकड़ा गया था।

पिंकी मीणा इसलिए हुई चर्चित

पिंकी मीणा अपने शादी के कार्ड में छपवाए गए संदेशों को लेकर भी चर्चा में रही थी। उन्होंने शादी के कार्ड में कोरोना और भोजन की बर्बादी को लेकर संदेश छपवाए थे कि दो गज की दूरी मास्क है जरूरी। इसके अलावा उतना ही लें थाली में, व्यर्थ न जाए नाली में। से संदेश और उनकी शादी का कार्ड सोशल मीडिया में भी वायरल हुआ था। पिंकी मीणा पहली बार घूस के आरोप को लेकर चर्चा में बनी और दूसरी बार अपनी शादी को लेकर राजस्थान के साथ देश और विदेश में भी खूब चर्चित हुई।

By admin