हिंदू धर्म में मोर पंख का महत्व बेहद विशेष है। पुराणों के अनुसार, भगवान श्रीकृष्ण के लिए मोर पंख अत्याधिक प्रिय था। सिर्फ कृष्णजी का ही नहीं बल्कि गणेश जी, इंद्रदेव और कार्तिकेय को भी मोर पंख बेहद प्रिय था। कई बार लोग मोर पंख का इस्तेमाल घर की साजो-सज्जा में करते हैं लेकिन यह वास्तु के अनुसार कितना अहम होता है यह शायद ही हर किसी को पता होता है। वास्तु के अनुसार, एक साधारण-सा मोर पंख किस तरह से आपकी जिंदगी बदल सकता है यह हम आपको यहां बता रहे हैं। आइए पढ़ते हैं मोर पंख के वास्तु टिप्स।

1. ग्रह दोष को दूर करने के लिए तीन मोर पंख को एक काले धागे में बांध लें। फिर सुपारी के कुछ टुकड़े लें और थोड़ा पानी छिड़कें। फिर ओम शनैश्चराय नमः मंत्र का जाप 21 बार करें।

2. जहां आप पैसा या फिर जेवर रखते हैं वहां पर आपको मोर पंख रखना चाहिए। ऐसा करने से आर्थिक स्थिति बेहतर होती है।

3. अगर घर के लिविंग रूम में एक नाचता हुआ मोर लगाया जाए तो घर में खुशहाली आती है।

4. अगर घर के प्रवेश द्वार पर मोर पंख लगाया जाए तो किसी भी तरह की नकारात्मक ऊर्जा घर में प्रवेश नहीं करती है। इससे घर का वास्तु दोष ठीक हो जाता है।

5. अगर घर में पत्नी-पत्नी के बीच तनाव का माहौल है तो उन्हें अपने कमरे में मोर पंख लगाना चाहिए। इसके लिए बेडरूम में मोर की तस्वीर लगा सकते हैं।

डिसक्लेमर  : ‘इस लेख में निहित किसी भी जानकारी/सामग्री/गणना की सटीकता या विश्वसनीयता की गारंटी नहीं है। विभिन्न माध्यमों/ज्योतिषियों/पंचांग/प्रवचनों/मान्यताओं/धर्मग्रंथों से संग्रहित कर ये जानकारियां आप तक पहुंचाई गई हैं। हमारा उद्देश्य महज सूचना पहुंचाना है, इसके उपयोगकर्ता इसे महज सूचना समझकर ही लें। इसके अतिरिक्त, इसके किसी भी उपयोग की जिम्मेदारी स्वयं उपयोगकर्ता की ही रहेगी।’