Happy Birthday Mohammad Azharuddin

मोहम्मद अजहरुद्दीन को दुनिया के महान खिलाड़ियों में गिना जाता है। वे भारत के महान कप्तानों में भी शुमार हैं, लेकिन मैच फिक्सिंग की आंच ने उनका पूरा क्रिकेट करियर खत्म कर दिया था। आज यानी 8 फरवरी 2021 को अपना 58वां जन्मदिन मना रहे मोहम्मद अजहरुद्दीन का जन्म 8 फरवरी 1960 को हैदराबाद में हुआ था। क्रिकेट से हर तरह की पाबंदी पाने के बाद उन्होंने राजनीति में कदम रखा था, जहां से वे देश की संसद तक पहुंचे।

क्रिकेटर के तौर पर उनका करियर बेहद शानदार था। मोहम्मद अजहरुद्दीन दुनिया के एकमात्र ऐसे क्रिकेटर थे, जिन्होंने अपने पहले तीन टेस्ट मैचों में लगातार तीन शतक ठोके थे। हालांकि, मैच फिक्सिंग की वजह से बैन किए जाने के कारण उनका करियर तबाह हो गया था। मैच फिक्सिंग के अलावा उनको दो शादियां, दो तलाक और बेटे की मौत ने तोड़ दिया था, लेकिन वे हार नहीं माने और खुद पर लगे मैच फिक्सिंग के दाग को धोकर ही चैन की सांस ली।

भारत के लिए 334 वनडे मैचों में उन्होंने 9378 रन बनाए थे। वे वनडे इंटरनेशनल क्रिकेट में 9 हजार रन बनाने वाले पहले क्रिकेटर थे। अजहर ने वनडे में 7 शतक और 58 अर्धशतक ठोके हैं। वहीं, टेस्ट क्रिकेट में उनके बल्ले से 45.03 की औसत से 6215 रन निकले हैं, जिसमें 22 शतक और 21 अर्धशतक शामिल हैं। कप्तान के तौर पर भी उनको एक महान क्रिकेटर के रूप में जाना जाता है, जिन्होंने लंबे समय तक भारतीय टीम की कप्तानी की।

मैच फिक्सिंग ने किया तबाह

साल 2000 में मोहम्मद अजहरुद्दीन पर मैच फिक्सिंग का आरोप लगा था, जिसे सही माना गया और उन्हें आजीवन क्रिकेट से बैन कर दिया गया। हालांकि, 12 साल के बाद साल 2012 में आंध्र प्रदेश हाई कोर्ट ने उन पर लगे आजीवन प्रतिबंध को खारिज कर दिया था, लेकिन तब तक काफी देर हो चुकी थी, क्योंकि अजहर का क्रिकेट करियर इससे काफी पहले खत्म हो चुका था। इस बीच उन्होंने सांसद बनने का गौरव हासिल किया था।

शादी और एक्स्ट्रा मैरिटल अफेयर को लेकर भी अजहर चर्चाओं में रहे, क्योंकि उन्हों दो शादियां कीं। पहले मोहम्मद अजहरुद्दीन की शादी उन्हीं के शहर की नौरीन से हुई और बाद में बॉलीवुड एक्ट्रेस और फेमस मॉडल संगीता बिजलानी के साथ उनका अफेयर शुरू हुआ। 1996 में अजहरुद्दीन ने नौरीन से तलाक लिया और फिर संगीता से शादी की। 14 साल के बाद दोनों ने आपसी सहमति से तलाक भी ले लिया।

उधर, संगीता का धर्म परिवर्तन कराकर उनको आयशा बेगम बना दिया गया, लेकिन संगीता के साथ भी अजहर का जीवन बहुत सुखी नहीं रहा। शादी के कुछ सालों बाद ही दोनों में अनबन शुरू हो गई, जो तलाक पर जाकर रुकी। 2009 में मुरादाबाद सीट से मोहम्मद अजहरुद्दीन ने कांग्रेस के लिए लोकसभा चुनाव लड़ा। संगीता बिजलानी ने प्रचार किया और अजहर ने चुनाव जीता, लेकिन 2010 में दोनों का तलाक हो गया।

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button



जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275
.