सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं…

गुरु नानक देव की जयंती इस वर्ष 30 नवंबर को है। आज का पावन दिन सिखों के पहले गुरु गुरु नानक की जयंती का प्रतीक है। यह सिख धर्म के सबसे पवित्र त्योहारों में से एक है। गुरुनानक सिख धर्म के संस्थापक थे। बिक्रमी कैलेंडर के अनुसार, उनका जन्म 1469 में कटक के पूर्णिमा पर हुआ था। भाई बाला जन्मसखी के अनुसार, गुरुनानक का जन्म भारतीय चंद्र मास कार्तिक की पूर्णिमा पर हुआ था। सिख इसी वजह से नवंबर के आसपास गुरु नानक के गुरुपुरब को मनाते हैं। आज का दिन हर सिख के लिए बेहद अहम है। आज हर कोई एक-दूसरे को गुरुपुरब यानी गुरु नानक जयंती की शुभकामनाएं देता है। अगर आप भी अपने दोस्तों या परिजनों को शुभकामना संदेश भेजना चाहते हैं तो यहां हम आपको गुरु नानक जयंती के शुभकामना संदेशों की जानकारी दे रहे हैं।

राज करेगा खालसा, बाके रहे ना कोए, वाहेगुरु जी का खालसा वाहे गुरु जी की फ़तेह..!! हैप्पी गुरु नानक जयंती…!!!

गुरु नानक देव जी के सद्कर्म हमे सदा दिखाएंगे राह वाहे गुरु के ज्ञान से सबके बिगड़े हुए कामकाज बन जाएंगे गुरु नानक जयंती की हार्दिक शुभकामनाएं

नानक नाम चर्दी कला, तेरे भने सरबत दा भला, धन धन साहिब श्री गुरु नानक देव जी दे आगन, पूरब दी आप सुब नु लाख लाख बधाई…!! गुरु नानक जयंती की बधाईयां,

मेरी गुरु नानक देव जी से कामना हे की, आपके सारे सपने पूरे हो और आपको एक सुखद जीवन मिले,

गुरु नानक देव जी आप पर हमेशा कृपा बनाए रखें.

खालसा मेरा रूप है खास, खालसे में ही करू निवास, खालसा अकाल पुरख की फौज, खालसा मेरा मित्र कहाए, खालसा दे जन्म दिन दी सब को बधाई…

हो लाख-लाख बधाई आपको गुरु नानक का आशीर्वाद मिले आपको ख़ुशी का जीवन से रिश्ता हो ऐसा दीये का बाती संग रिश्ता जैसा

हैप्पी गुरु नानक जयंती

खुशियां और आपका जन्म जन्म का साथ हो, हर किसी की जुबान पर आपकी हंसी की बात हो. जीवन में कभी कोई मुसीबत आए भी, तो आपके सर पर गुरु नानक का हाथ हो.

नानक नाम जहाज है जो जपे वो उतरे पार मेरा सद्गुरु करता मुझको प्यार वही तो है मेरा खेवनहार हैप्पी गुरु नानक जयंती

इस जग की माया ने मुझको है घेरा ऐसी कृपा करो गुरु नाम न भूलूं तेरा

चारों और मेरे दुखों का है अँधेरा छाए बिन नाम तेरे मेरा इक पल भी ना जाये

गुरु नानक जयंती की हार्दिक बधाई, सतनाम वाहे गुरु, गुरु पर्व की असीमित शुभकामनाएं..

आप सभी पर वाहे गुरु की मेहर हो!

ज्यों कर सूरज निकल्या, तारे छुपे हनेर प्लोवा, मिटी ढूंढ जग चानन होवा, काल तान गुरु नानक आइया सतगुरु सब दे काज संवारे

आप सब को प्रथम सिख गुरु नानक देव जी के जनम दिवस की हार्दिक बधाइयां

Ab2news Family

व्हाट्सप्प आइकान को दबा कर इस खबर को शेयर जरूर करें

Please Share This News By Pressing Whatsapp Button



जवाब जरूर दे 

आप अपने सहर के वर्तमान बिधायक के कार्यों से कितना संतुष्ट है ?

View Results

Loading ... Loading ...


Related Articles

Close
Website Design By Bootalpha.com +91 82529 92275
.